06 मार्च 2018

Ledger Under Groups


Ledger Create under Right Groups

 अकाउंट मे ट्रांजेक्सन के वाउचर बनाये जाते है!
1.       नगद अदा करने पर पेमेंट वाउचर ।
2.      नगद प्राप्ती के लिये रिसिप्ट वाउचर ।
3.      बैंक मे कैश जमा कराने व निकालने के लिये कोंट्ररा वाउचर ।
4.      गुड्स खरीद करने पर पर्चेज वाउचर ।
5.      गुड्स बिक्री करने पर सेल वाउचर (बिल, इनवाईस)।
6.      जरनल वाउचर मे टांस्फर ईंट्री की जाति है।
6.
 नया अकाउंट (खाता ) बनाने के लिये हमे निम्नांकित ग्रुप्स का चयन करना होगा जिससे सोफ्टवेयर अकाउंट्स को व्यवस्थित करता है ।
किसी भी अकाउंटिंग सोफ्टवेयर मे ग्रुप्स (groups) पहले ही बने होते है । ( आवश्यक्ता होने पर बना सकते है) नये अकाउंट (खाता ) इन ग्रुप्स के उंडर बनाये जाते है


GROUPS                                                        LEGDER
BANK ACCOUNT                                 SBI BANK, PNB BANK Etc. 

बैंक  के  लेजर इस ग्रुप के अंदर  बनाये जाते है

CAPITAL ACCOUNT                             PROPRIETOR /पार्टनर NAME

व्यापार के मालिक का  नाम   इस ग्रुप के अंदर  बनाये जाते है 
CASH IN HAND                  CASH  

  कैश (रोकड़ ) का लेजर पहले से ही बना होता है सॉफ्टवेयर में |

SUNDRY CREDITOR              SUPPELIERS

ऐसे व्यापारी जिनसे उधार  वस्तु खरीद की जाती है   उनके नाम इस इस इस
ग्रुप के अंदर  बनाये जाते है 
 
SUNDRY DEBTORS               CUSTOMER

 जिनको  उधार वस्तु  विक्री की जाती है   उनके नाम इस इस इस ग्रुप के 
अंदर  बनाये जाते है | 
 
DIRECT EXPENSES               MFG- LABOUR- PACKING-

ऐसे खर्चे वाले खाते जिनका सकल लाभ पर सीधा प्रभाव पड़ता है जैस किसी 
वस्तु के निर्माण  में  मजदूरी, पैकिंग, बिजली आदि| 

INDIRECT EXPENSES             ELEC. BILL, SHOP EXP, SALARY, 

खर्चे वाले खाते  जैसे   बिजली बिल, वेतन, दुकान किराया, बैंक चारचेज आदि | 

FIXED ASSETS                   FURNICHER, CAR, LAPTOP , MCY...

बिजिनेस के काम में लिए गए फर्नीचर, बिल्डिंग, कम्प्यूटर, मोटरसाइकल  आदि
 नाम के लेजर इस ग्रुप के अंडर बनाये जाते है |

INDIRECT INCOME               INTEREST, RENT......

ब्याज, किराया , कमीशन , दलाली  ऐसे लेजर जिनसे व्यापार में आय
 (इनकम ) प्राप्त होती है उन्हें इस ग्रुप के अंडर बनाये जाते है | 

PURCHASE ACCOUNT            GOODS ५% / १२ %, TAXABLE, GOODS TAXFREE, 
                                                                WHEAT PURCHASE, TV PURCHASE....

खरीद के लेजर  जैसे  खरीद ५%,  खरीद १२%,  व्यापार के अनुसार मालखाते  इस ग्रुप में बनाये जाते हैं | 

SALES ACCOUNT                GOODS SALES, WHEAT SALES, TV SALES,

बिक्री के लेजर  जैसे  बिक्री  ५%,  बिक्री  १२%,  व्यापार के अनुसार मालखाते  इस ग्रुप में बनाये जाते हैं |
 
SCURE LOAN                    LOAN FROM BANK

यदि किसी बैंक लोन लिमिट लिया है तो ऐसे बैंक का लेजर  इस ग्रुप  में बनाया जाता है | 

UNSCURELOAN                  lOAN FROM OTHER PARTY      
             
DUTIES &; TAXES               GST, IGST, CGST SGST 
                                                                     
टैक्स सम्बंधित लेजर इस ग्रुप के अंदर बनाये जाते है जी |










कोई टिप्पणी नहीं: